Innovation » Baste Ka Bojha

बस्ते का बोझ कम करना-
विद्यालयों में बस्ते का बोझ कम करने हेतु कलेक्टर रायपुर एवं इस कार्यालय के प्रयास से जिले के विभिन्न शासकीय एवं निजी विद्यालयों के प्राचार्यों/संचालकों की कार्यशाला की गई। चिकित्सक एवं शिक्षाविद के माध्यम से बच्चों में होने वाली बीमारी व विकार को बताया गया। साथ ही इसके निदान हेतु 11 उपाय भी बताए गए। फलस्वरूप आज की स्थिति में सभी निजी विद्यालयों ने बस्ते का बोझ कम कर दिया है। साथ ही दस शासकीय विद्यालयों ने बैगलेस स्कूल ही बना डाला है। करीब 2 लाख बच्चे बस्ते के बोझ से राहत महसूस कर रहें हैं। पूरे राज्य के अन्य स्कूलों में ऐसी व्यवस्था बनाई जा सकती है।