Scheme Information » Computer Education

जिले में कम्प्यूटर षिक्षा
जिले की भौगोलिक परिस्थिति - रायपुर जिले छत्तीसगढ़ के राजधानी रायपुर के चारो तरफ औसतन 70 किलोमीटर के  बीचोबीच स्थित है। रायपुर जिले में कुल 04 विकासखण्ड है। सम्पूर्ण क्षेत्र मैदानी क्षेत्र है। रायपुर शहर धरसींवा विकासखण्ड में आता है। इसके साथ साथ दक्षिण में अभनपुर, पूर्व में आरंग एवं उत्तर में तिल्दा एवं धरसींवा विकास खण्ड है।
कम्प्यूटर शिक्षा - जिला में कम्प्यूटर शिक्षा हेतु एम.आई.एस. सेल का निर्माण किया गया है जिसके अंतर्गत कम्प्यूटर शिक्षा के विभिन्न योजनाओं का संचालन किया जाता है जिसमें निम्न लिखित योजनाऐं शामिल है -
1. एम.आई.एस. केन्द्र - जिले के कम्प्यूटर शिक्षा, कम्प्यूटर प्रशिक्षण, सूचना प्रौद्योगिकी कार्य का सूचारु रुप से संचालित करने के लिए 1996 में प्रत्येक जिला में एम.आई.एस. केन्द्र का निर्माण किया गया। यह केन्द्र दानी स्कूल से संचालित होता था जो कि सत्र 2006 से जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय में स्थापित कर संचालित किया जाता है एम.आई.एस. केन्द्र का संचालन हेतु छ.ग.शासन स्कूल शिक्षा विभाग ने एक एम.आई.एस. प्रशासक की नियुक्ति की गई है। एम.आई.एस. प्रशासक द्वारा शिक्षा विभाग के कम्प्यूटर शिक्षा एवं सूचना प्रौद्योगिकी (आई.सी.टी.) के कार्यो का निरीक्षण, प्रशिक्षण एवं शिक्षण कार्यो को देखते है। 
2. जिला कम्प्यूटर प्रशिक्षण केन्द्र - जिला कम्प्यूटर प्रशिक्षण केन्द्र का स्थापना जे.एन. पाण्डेय शासकीय बहु. उ.मा.शाला रायपुर में स्थापित है। जिला के शिक्षकों/कर्मचारियों/अधिकारियों को समय समय पर कम्प्यूटर, साफ्टवेयर, कम्प्यूटर एडेट लर्निंग साफ्टवेयर का प्रशिक्षण तथा विभिन्न प्रकार के कम्प्यूटर संबंधित कौशल परीक्षा का आयोजन किया जाता है। यह जिला के सबसे बड़े कम्प्यूटरीकृत केन्द्र है यहां पर 60 कम्प्यूटर स्थापित है। केन्द्र में प्रोजेक्टर, इंटरनेट एवं अन्य सुवीधावों से सुसज्जीत है। प्रतिवर्ष लगभग 4000 शिक्षकों/कर्मचारियों/अधिकारियों को प्रशिक्षण दिया जाता है।
3. आई.सी.टी. योजना - जिले में आई.सी.टी. योजना का क्रियान्वयन सत्र 2000 से संचालित है इस योजना का नाम पूर्व में इंदिरा सूचना शक्ति योजना रखा गया था योजनांतर्गत जिले के समस्त छात्राओं को निःशुल्क कम्प्यूटर प्रशिक्षण दिया जाना है। सत्र 2003 में इस योजना का नाम छत्तीसगढ़ सूचना शक्ति योजना के रुप में क्रियान्वयन किया जाता रहा एवं सत्र 2009 से योजना का नाम आई.सी.टी. योजना के नाम से क्रियान्वित किया जा रहा है। वर्तमान में इस योजनांतर्गत 97 विद्यालय में संचालित है जो कि पूर्णतः बूट माडल पर संचालित है। एन.आई.आई.टी. प्राइवेट लिमिटेड द्वारा संचालित यह योजना 05 वर्षो के उपरान्त कम्प्यूटर एवं शैक्षणिक समस्त सामग्री विद्यालय को दिया जावेगा। इस योजना के अंतर्गत सत्र 2009 से जिले के चुने हुए आई.सी.टी. कम्प्यूटर केन्द्रो के समस्त छात्र/छात्राओं को जो कि कक्षा 09 से 12 तक अध्ययनरत है उन्हे निःशुल्क कम्प्यूटर प्रशिक्षण प्रदान किया किया जाना है योजनांतर्गत एन.आई.आई.टी. कम्पनी लिमिटेड द्वारा बच्चों को निःशुल्क पुस्तके वितरण किया जाता है एवं प्रशिक्षण के उपरान्त परीक्षा सम्पन्न कर प्रमाण पत्र प्रदान किया जाता है।
 
4. आई.टी. व्यवसायिक शिक्षा - यह योजना जिला के 05 विद्यालयों में सत्र 2015-16 में प्रारंभ किया गया। राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के अंतर्गत जिले के 05 विद्यालयों को चयनित किया गया है जहां पर व्यवसायिक शिक्षा अन्तर्गत आई.टी. ट्रेड पर अध्ययन किया जा रहा है जिसमें लगभग 900 बच्चे लाभान्वित हो रहें है। इस योजना के सामग्री एवं पूस्तकें राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान योजना द्वारा प्रदायित किया जाता है। इस योजना में अध्ययनरत विद्यार्थियों का परीक्षा माध्यमिक शिक्षा मंडल छत्तीसगढ़ द्वारा लिया जाता है।